माया की चूत का कमाल, उसकी बुर हुई हलाल और मैं हुआ निहाल

loading...

हलो दोंस्तों, गौरव आपका स्वागत करता है। आपको अपनी कहानी बता रहा हूँ। मैं गोरखपुर जिले का रहने वाला हूँ। मेरी कचहरी में पान की दुकान है। अब मैंने एक्स्ट्रा कमाई। के लिए साथ में एक फोटोस्टेट की दुकान भी खोल ली है। मैं स्टाम्प पेपर भी बेचता हूँ। कुछ दिनों पहले मेरी दुकान पर एक माया नाम की लड़की आयी। उसके साथ कुछ लोगों से गन्ने के खेत में बलात्कर कर दिया था, बस वही उसका मुकदमा चल रहा था। जवान बिलकुल गांव की देहाती देसी लड़की थी। देखने में हट्टी कट्टी अल्हड। चौड़ी थाती, मस्त गदराए दूध। चंचल आँखे, काले घने बाल। माया जब सुबह गन्ने के खेत में मैदान गयी थी, बस वहीँ उसके गांव के मनचलों ने उसके साथ रेप कर दिया था।

loading...

माया के बाप ने रिपोर्ट लिखवा दी थी। अब कचेहरी में मुकदमा चल रहा था। माया मेरी दुकान पर पान खाने आयी थी, बस तभी मेरा उससे परिचय हों गया। जब जब वो पेसी पर आती, मेरी दुकान पर पान खाती। धीरे धीरे मैने उससे फोन नॉ भी ले लिया। जब दुकान पर कोई कस्टमर नही होता था, मैं उससे फ़ोन पर इस्क़बाजी की बात करता था। वो फोन पर मुझे अपना सब हाल बताती थी। उन आदमियों से उसे बहुत बुरी तरह नोचा था, रंडियों की तरह उसे खेत में चोदा था। कुल 5 लोग थे, जब एक झड़ जाता था तब दूसरा आता था, फिर दूसरा । इस तरह माया को वो लोग खेत में मुर्गा बनाये हुए थे, और नॉन स्टॉप उसकी बुर फाड़ रहे थे। मोटे, छोटे, आड़े, तिरछे हर तरह के लण्ड माया की बुर को भांज रहे थे। खेत में गन्ने की पत्तियों के ऊपर माया की बुर से निकला खून ही खून था। ये सारी बातें माया ने मुझे बतायी।

मैं उसके साथ खूब सहानुभूति दिखाने लगा। उसकी हर बात में मैं हामी भरने लगा। धीरे धीरे मैंने उसको शीशे में उतार लिया। दोंस्तों जिस लौण्डिया को पांच लोग हचक के पेल खा चूके हो, अब उसके पास छुपाने को बचा ही क्या? मिले चूत तो पेलो साली को। बस मैं यही सोच रहा था। इसलिये मैं उसका हमराज, हमदर्द बन गया था। मेरा असली मकसद माया को मुर्गा बनाके उसकी चूत लेना ही था। बस यही मेरा टारगेट था। धीरे धीरे जब मैं जान गया कि लौण्डिया सेट हो गयी है, मैं उसको गोरखपुर में स्कूटर पर घुमाने लगा। मैं उसे कभी कभी रेस्टोरेंट ले जाता। अब माया मुझपर पूरा भरोसा करने लगी। मेरी हर बात पर वो हँस पड़ती, मैं उसका हाथ पकड़ लेता। बड़ी बड़ी देर तक उसका हाथ आपमें हाथ में लिया रहता। वो कुछ नही कहती। मैं जान गया की जो लड़की हाथ दे सकती है वो चूत भी दे सकती है।

क्योंकि जब शादी के लिए लड़का जाता है तो लड़की के बाप से ये नही कहता की मुझे आपकी बेटी की चूत चाहिए। लड़का हमेशा यही कहता है कि मुझे आपकी लड़की का हाथ चाहिए। हर लड़का हाथ मांग के लड़की की चूत खुलकर मरता है। बस मैं समझ गया कि अगर मुझे माया अपना हाथ दे रही है तो चूत भी समझ लो दोगी। बस दोंस्तों, मैंने एक दिन माया से बातों बातों में कह दिया की काश कोई लड़की मुझे भी दे देती। वो मान गयी। मैं बहुत खुश हुआ। लगा जैसे मैंने लाख रुपये जीत लिए हो। अब एक समस्या थी की माया को कहाँ चोदा जाए। अपने घर पर तो नही ले जा सकता 30 40 लोग का परिवार है। कुत्ते बिल्लियों की तरह बच्चे है घर पर। माया को कहाँ ले जाता वहां।

घूम फिराके यही आईडिया आया की पान की ढाबली में माया को मुर्गा बनाओ और इसकी।गुझिया मारो। मैंने माया को शाम 8 बजे आने को कहा। क्योंकि 8 बजे तक कचेहरी में सब दुकान ऑफिस बंद हो जाते है। मैं सुरक्षित उसको चोद बजा सकता हूँ। माया हमेशा साइकिल से चला करती थी। मर्दाना नेचर की थी। शनिवार को मैंने अपनी पान की दुकान 8 बजे तक बढ़ा दी। अपना पान का कॉउंटर बड़ा दिया। पान पुकार, पान मसाले की पुड़िया सब लपेट ली थी मैंने और गत्ते में रख दी थी। मैंने दुकान बढ़ा ली थी। मैं बाहर खड़ा हो गया कि देखने लगा। अपनी मॉल माया का इंतजार करने लगा। मैंने चारों ओर नजरे घुमाकर देखा की कहीं कोई आदमी तो नही है। कचेहरी पूरी तरह खाली हो गयी थी। सारे वकील, मुंसी, दुकानदार जा चुके थे। मेरे लण्ड में खुजली हो रही थी। आज तो चूत मिल ही जाएगी। यही सोचकर मैं अपने लण्ड पर पंत के ऊपर से ही लण्ड मल रहा था।

मैंने घडी में देखा। 8 बज गए थे। अभी तक माया नही आयी। फिर सवा 8 बज गये। मैं सोचने लगा भोसड़ी के लगता है लौण्डिया हाथ से निकल गयी और उसकी चूत भी गयी। एक एक सेकंड एक एक साल के बराबर लग लग रहा था। मैंने उम्मीद नही छोड़ी। मैंने एक सिगरेट सुलगायी और फुकने लगा। मेरी आँखे माया और उसकी चूत के लिए तरस गयी थी। मैंने उम्मीद नही छोड़ी। मैं निरास हो गया। मेरी सिगरेट भी अब खत्म को चुकी थी। मैं जान गया कि अब मुझे न माया मिलेगी और ना उसकी चूत। वहां मेरी दुकान के बदल कुत्ते कुतियों के साथ प्रेमालाप कर रहे थे। कुतिया अपने दोनों पैर फैलाके जमीन पर लेटी थी। कुत्ता उसकी बुर सूंघ रहा था। ये सब देखकर मुझे गुस्सा आ गया। मैंने पत्थर फेक्के कुत्ते कुतिया को मारा।

बहनचोद!! यहाँ मेरी मॉल नही आयी और तू अपनी मॉल को चोदेंगे, उसकी बुर चाटेगा। पत्थर मैंने खींच के मारा। उसके लण्ड पर लगा। कुत्ता कुतिया पिल्ल पिल्ल करता हुआ वहां स टाँग उठाके भाग निकला। मैं बहुत निरास हो गया था। मैंने दुकान बंद करदी, मैं ताला भरने लगा। पीछे से किसी साइकिल वाले ने घण्टी बजायी। मैं मुड़ा। अरे बॉप रे!! माया थी। आप लोगों को दोंस्तों बता नही सकता हूँ, कितनी खुशि मिली। माया ने साइकिल स्टैंड पर खड़ी की। वो मेरे पास दौड़ कर आई। मैंने शाहरुख़ खान की तरह बाहे फैलाके उसका स्वागत किया चूत जो मिलने वाली थी। मैंने उसे खुशि से गले लगा लिया। कितने महीने लगे लौण्डिया पटाने में। आज गले लगी है।

मैंने उससे साइकिल में ताला भरने को कहा। हम दोनों ढाबली में आ गये। मेरी ढाबली जादा बड़ी नही थी। अब एक नई चुनौती मेरे सामने थी। हम लोग पूरा पूरा आराम से लम्बा होकर नही लेट सकते थे। मुझे दिमाग लगाकर जुगाड़ से माया को मुर्गा बनना था यानि उसकी चूत लेनी थी। मैंने माया को बिलकुल से नन्गा नही किया। बल्कि मैं बड़े आराम से उसे धीरे धीरे पुचकार पुचकार कर चोदना चाहता था। वैसे भी उसका दिल एक बार टूट चुका था। सबसे पहले मैं बैठ गया। फिर मर्दाना बदन वाली माया को अपनी गोद में ले लिया। पहलवानी कसरती बदन वाली लड़की थी। जैसी ही मेरी गोद में बैठी, मेरी तो साँस ही अटक गई। बड़ी भारी थी दोंस्तों। पर मैंने किसी तरह संभाला। उसे अपनी गोद में बिठाया। वाह!! खूब हट्टी कट्टी लौण्डिया थी। खूब बड़े बड़े मम्मे थे। हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगा लिया।

मैं दावे से कह सकता हूँ की माया मुझसे प्यार करने लगी थी। पर मैं उससे नही बल्कि उसकी चूत से जादा प्यार करता था। काम के भावना में आकर वो मेरी मेरी पीठ सहलाने लगी। मेरे ऊपर भी कामदेव हावी होने लगा। हम दोनों एक दूसरे की पीठ सहलाने लगे। आज बड़े दिनों बाद मैं कोई चूत मारने जा रहा था। हम दोनों की आँखे बंद हो गयी थी। कहीं हम दोनों को कोई तीसरा अजनबी चुदाई करते ना पकड़ ले, इसलिए मैंने अपनी ढाबली का पीला बल्ब बन्द कर दिया था। मैंने अपना मोबाइल जला लिया था और एक कोने रख दिया था। मोबाइल से इतनी रौशनी हो रही थी की मैं माया की चूत और गाण्ड ढूंढ लूँ।

पहले तो हम दोनों ने खूब चुम्मा चाटी की। फिर बातों बातों में माया रोने लगी और कहने लगी की उसका हमेशा से सपना था वो चुदवाना तो चाहती थी मगर इस तरह प्यार से। पर हुआ कुछ और। मैंने उसकी पीठ सहलाई और उसकी हिम्मत बढ़ाई। मैंने उसे समझाया कि इंसान जो सोचता है हमेशा नही होता। वो सामान्य हुई। हम दोनों चुदाई की ओर बढ़ चले। मैंने उससे कहा कि अगर कपड़े पहने रहोगी तो तुमको कैसे लूंगा। वो उतरने लगी। मेरी नजरों भूखे भेड़िया की तरह उसका गर्म जिस्म तलाशने लगी। चुदास मेरे लण्ड पर पानी बनकर तैरने लगी। जमाना हो गया था कोई चूत के दर्शन नही हुए थे। आज इंतजार खत्म होने वाला था।

मैंने भी अब खुद को और नही रोक सकता था। मैंने अपनी टीशर्ट, पैंट उतार दी। माया भी नँगी हो गयी। उसने अपना सलवार सूट, ब्रा पैंटी सब ढाबली के कोने में बड़ी हिसाब से रखा जिससे उसमे सिकुड़न ना हो। मैंभी नन्गा होकर बैठ गया। गदरायी जवानी से मालामाल माया को मैंने अपनी गोद में बैठा लिया। मेरा लण्ड तमतमा गया। खड़ा होकर उसके पेट में गड़ने लगा। मैंने उसे हल्का सा एडजस्ट किया। अब मेरा लण्ड सही जगह पहुँच गया। मैं माया के मम्मे पीने लगा। बड़े बड़े मस्त मम्मे। निपल्स इतनी शर्मीली, नुकीली, और इतनी नुकीली की मैं उसके रूप पर मुग्ध हो गया। कुछ देर तो मैं हाथों से छूकर उस आठवे अजूबे को देखता रहा। खूब दूध पिए होंगे उन लोगों ने इसके तभी इतने बड़े बड़े मम्मे हो गए। मैंने सोचा।

मैं माया के दोनों होंठ पर बड़े ही कामुक अंदाज में अपना अंगूठा रगड़ने लगा। माया मस्त हो गयी। एक चुदासी लड़की को देखकर हर लड़के का चेहरा खुसी से खिल और लाल हो जाता है। बिलकुल मेरा चेहरा में लाल हो गया। उधर माया भीं चूदने जा रही थी। शर्म और खुशि से उसका चेहरा भी लाल हो गया। मैंने माया के नुकीले मम्मो को समोसे की तरह मुँह में भर लिया। मैंने पिने लगा। माया तड़पने लगी। मैं और मस्ती से उसके दूध पीने लगा। मैं उसकी पीठ पर बराबर हाथ फेर रहा था जिससे वो और गरम हो जाए और खुल कर चुदवाये। मुझे शरारत सूझी और मैंने माया के मस्त शक्तिशाली नँगे कन्धों को हल्का सा मादक अंदाज में काट लिया।

उसके नँगे कंधे तो मुझे बड़े सेक्सी लग रहे थे। मैंने उसके कन्धों को खूब काटा। वो और चुदासी हो गयी। किसी लौण्डिया।को बस आप चोदिये मत, नँगे नँगे अपनी गोद में बिठाये रखिये और हल्के हल्के मजा लेते रहिए। चुम्मा चाटी करते रहिए। बस दोंस्तों, मैं इसी पालिसी में चल रहा था। मैं माया के मस्त नुकीले बेहद सुंदर दूध को पीता था, काटता था, उसके नँगे मांसल कन्धों को शरारत के साथ काटता था, उसकी नाभि चाटता था, उसके मस्त गोरे पेट में काटता था। बस मजा आ गया दोंस्तों उस दिन।

ढाबली की बत्ती मैंने पहले ही बुझा दी थी। दो जवान जब चुदाई का कार्यक्रम बना रहे हो तो वैसे भी वहां अँधेरा रहना ही बेहतर है। इसमें कोजीनेस जादा मिलती है। मेरे हाथ माया के मस्त गोल लपलपे चुत्तड़ पर चले गये। मैंने उसके चुत्तड़ पकड़कर उसको हलका ऊपर उठाया। लण्ड को सुराख में डालने लगा। छेद नही मिला। माया ने खुद दोंस्तों मेरा लण्ड पकड़ कर अपनी बुर में डाल दिया। जब को मर्दाना बदन लाऊँडिया दोबारा मेरी गोद में बैठी तो वजन पड़ा। मेरा लण्ड सीधा माया की बुर में। मैंने हल्का ढाबली की दिवार का सहारा ले लिया। माया अपने ऊपर लिटाया। धीरे धीरे उसके मस्त नँगे चुत्तड़ को पकड़ मैंने आगे पीछे सरकाने लगा। मेरा लण्ड गिअर की तरह माया की बुर पर फिसलने लगा।

वो चूदने लगी। मैं उसको चोदने लगा। थोड़ी मेहनत वो भी करने लगी। अब माया मेरे लण्ड पर पिस्टन की तरह जल्दी जल्दी फिसलने लगी। मुझे तो मौज आ गयी दोंस्तों। माया को बड़ी आराम से बिना किसी जल्दबाजी में मैंने 1 घण्टे अपने लण्ड पर लिता के चोदा दोंस्तों। मजा आ गया मुझे। जब मेरे लण्ड ने रस छोड़ा बड़ा धीरे धीरे आराम से रस निकला क्योंकि पानी ऊपर जा रहा था। सारा माल माया की चूत में चला गया। मैंने और माया से गहरी सासें थी। मैंने उसे अपने लंड से नही उतारा। खूब देर तक उसके दूध पीता रहा।

जिंदगी का मजा तो मेरी तरह लौण्डिया को चोदने में ही है दोंस्तों। आराम से धीरे धीरे बड़े प्यार से। फिर दोंस्तों मैंने माया को मुर्गा बनाके यानि कुतिया बनाके उसकी गाण्ड मारी। 12 बजे तक मैंने माया को 3 4 बार लिया दोंस्तों। फिर अपनी साइकिल पर बैठ चली गयी। मैं घर लौट आया।

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


क्सक्सक्स नई चुड़ै स्टोरेय भं जीजी आर्मीअल्लाहाबाद में तैयारी करने आई सगी छोटी बहन के साथ जवानी के मजे लिया जाड़े की रात में सेक्स कहानीBahan ko balek mail karke choda sexy kahni in hidiदिदी कि चुत का सगे भाई ने हिँदी कहानीRitika ki garm chut me mota land dal diyaशराबी ने जबरदस्ती भाभी का दूध पियाchudai bete se karwa chauth k dingori madam chud gai anjaan mard se.comमोटी गांड को दादाजी ने चोदा ओर मजा दियारंडी की चोदाइ काहानीकई लन्ड से माँ बेटी की चुदाई की कहानीटेरेन मेबुढ़िया नौकरानी को चोदकर प्यास बुझाईsaxe khani bhap bate keDada Dadi ki video HD xxxxmummy me Kaha beta mai maa banane wali hi porn storiesbua fupa me nonvegsex.comसेकसी कहानी मालिश के बहाने साले पत्नी कोटिक टोक सेक्सी कहानि xnxxtvghad.marwe.masti.me.hindi.बहन सेकस करना चाहती है क्या करूधंदेवाली कि सटोरी सेकसीbur chodi samuhik rakhel kahaniमौसी को पटाकर चोदासोते हुए ससुराल में अंजान आदमीसे चोदाइ की कहानीmummy ko uske boyfriend se chudawate dekha kahaniyaहिंदी परिवारिक चदाई काहानियाठंड के मेरे छोटी बहन की जिस्म की गर्मी की बूर में लैंड डाल करghar me sis ko bagal me sex kahaniMaa Ko LGA chudwane k shonk sex storyसागी दो बहनो की एक साथ चुडाई की XXXकहानियाunhone mujhe apni wife samajhkr mere sath sex hindi porn storyमेरी चुत की सील अजनबी अंकल तोड़ी कहानीमाँ बेटी की एक साथ चुदाई लम्बी चुड़ै फुल गाली देकर सामूहिक चुड़ै फुल गालीमाँ की चुदाई मेरे सामनेMarathi bhabhi ki Rula Rula kar kitchen Mein Khade Khade chudai videodamad se chudwayabeti ke samneआँटी की छाती ke xxxxxphotobhai ne choti bhn ko jbrdsti chod diya nashe ki dava dekr hot sexy storysनानी का भोसडससूरजी बहू.x.veidoMA BETA SEX ANTRVASHNAsister.ka.wine.sharab.xxx.kahanisexsadi suda vchudai vifeoबीवी ट्रैन में अजनबी से चूड़ी सेक्सी स्टोरीxxx hindi kahani maa bete ki rajai me bukhar meपापा के सामने चुद गईmaxipornstorymamu ka land chush kr apni chut k khujli mitai hindi khaniyaअमीर लडकियो की चुडाई की XXXकहानियाJethji aur Vidhawa Bahu ki chudai kahanibur khyo chodati girlxxx desi sadisudha hot girl vidio suhagratmom ko coda gav ke jmidar ne hindi storyXnxxx ma or son ki khaniya मै अपने दमाद से चुदीajnvi zabardasti kamwatsna storyकामवाली की बुर चोदईbhot thand xxx khanikubare land ke karname chudayi khanibidhwa didi ne apne hi chote bhi se chudaya hindiwife के जगह गलती सेSister के साथ Xxx khaniya Mami ki chut pujan ke bad chudai ki hindi kahaniyabhu sasur ka sath rat gujar k sexy hindi story.comबोस मालिक ने बिबि को चोदासेक्स काहनि हिन्दी मैबीयफ सेकसी कहनी पढने केलीएचटक चुत की सील कहानीहिंदी सेक्स स्टोरी सुहागरातmamme new xxx hindi storeमाँ का एक बेटी सादी से पहले भाई सिल तोडा सेकसी कहानी पढने के लिएचिकनी माँ के चुत सोते xnxx video hindi बिबि को वैश्या बनाया complete rajsharma storyगोद मे बिठाके भतीजी को चोदचुदाया पतिने सबसेअन्त्य आवर बेबी सेक्स वीडियोApane badi bahen chut chataxxx English hot choti bahn ki chudaididi ke saath rakshabandhan sex storiesXnxx mene adhere me cudvaya sex storiesSex Apx vedo moov hedi desi मराठि भाभी सतन दाबले विडियोपेहले पापा ने फिर भाई जान सकसी कहनी हटmaa beta ki xxx shikaya xxy videoसुहागरात में च**** की कहानीBabhi na garam chut ma daver sa garam land ghuswaya xnxx tv .comपडोस मे रहने वाली भाभी की जबरदसती चुदाई की sexyकहानीवाईब्रेटर बहु की गाँड मेँ डाला की कहानियाँHindi priwarik chudai kahani with Widhwa Chachi www.saliki pahli raat ki chudai hindi video aur stori.comsex story bahan ko ruladiyaxxx antarvasna . com par galti se sasur ji ne choda hindi aideo storyKet khalihano ki sex kahani Hindihttps://allsvch.ru/justporno/shaadi-chudai-%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%A6%E0%A5%80-%E0%A4%AE%E0%A5%87-%E0%A4%9A%E0%A5%81%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%88/