Maa aur Dono Bahan Sex in Family kahani

loading...

मैं कविता को आराम आराम से छोड़ना सुरू कर दिया .हम दोनो उस रात मे दो बार किया और तक कर सो गये . सुबह जब मैं सो कर यूटा तो कविता बातरूम मे नहा रही थी मैं सीधे बातरूम मे गया और कविता को पीछे से पाकर लिया और उसके चुचि को दबाने लगा कविता मुझे ड़ख कर खुस हो गयी और मुझसे लिपट गयी हम दोनो साथ साथ नहाने लगे और फिर मैने कविता को चोद्ने लगा .उसके बाद कविता अपने कोल्लगा चली गयी. इस तरह हम दोनो एक हफ्ते तक पति पत्नी की तरह एक दूसरे के साथ मज़ा करते रहे हम कभी बातरूम मे कभी किचें मे तो कभी सोफे पर जब मान करता एक दूसरे के साथ चिपक जाते.जब मम्मी पापा आगाय तब हम दोनो च्चिप च्चिप कर अपना कम करलेटे. एक दिन मैने कविता से बोला कविता मैं एक बार रेखा को भी छोड़ना चाहता हूँ. कविता बोली राहुल तुम पागल तो नही हो गये हो रेखा अभी सिर्फ़ 15 साल की हैं थोड़ी और बड़ी होने दो फिर. मैने कहा कविता तुंभी ना रेखा अब बच्ची नही हैं और कब तक इंतजार कारवावगी सोचो ज़रा कितना मज़ा एगा ज्ब मैं तुम और रेखा एक साथ होंगे. तब जाकर बोली अक्चा मेरे साजन जी बहोट जल्द मेरी ननद और तुम्हारी साली तुम्हारी बीबी बनकर तुम्हारे शूहाग के सेज पर होगी.फिर हम दोनो हसने लगेफिर मम्मी धीरे धीरे मेरे जाँघ को सहले लगी फिर वो मेरे पैंट के ज़िप को खोल दी. मैं हड़बड़ा गया और उः कर बैठ गया.फिर मम्मी ने कहा क्या हुआ.मेरे मूह से खुच्छ आवाज़ नही निकल पाया.फिर मम्मी मेरे पैंट के अंदर हः डालते हुए बोली क्या सारा हुक़ सिर्फ़ कविता का ही हैं मेरा तुम पर कोई अधिकार नही आख़िर मैं भी तो तुम्हारी मा हूँ और एक औरत भी.तुम्हे तो पता ही हैं की तुम्हारे पापा कई कई दिन तक घर से बेर होते हैं.मेरी भी तो कुहह चाहत हैं.और मम्मी मेरे लॅंड को पाईं से बाहर निकल दी.और बोली प्ल्ज़ राहुल मेरी भी प्यास भुझा दो. और मम्मी मेरे लॅंड को अपने मूह मे लेकर चूसने लगी.

और मेरा लॅंड बिल्कुल टंकार खड़ा हो गया.उसके बाद मैने मम्मी को अपने बिस्तर पर लिटा दिया और उसके होंठो को चूसने लगा फिर मैं उसके सारी और ब्लाउस को उतार दिया और उसके चुचि को दबाने लगा उसके बाद मैने अपने और मम्मी कीसरे कपड़े उतार दिया और मम्मी के चूत मे अपने लॅंड डाला.और मम्मी को चोद्ने लगा. थोड़ी देर मे हम दोनो झाड़ गये.उसके बाद मैं तक गया और फिर हम दोनो एक दूसरे के सरीर से खेलने लगे फिर मम्मी ने मुझसे पुचछा की तुम कितनी लड़कीो के सह खेल चुके हो मैने बोला. मम्मी अब तक सिर्फ़ कविता के साथ और आपके साथ.मम्मी बोली राहुल ईस्वक़्त मैं तुम्हारी मों नही बल्कि तुम्हारी सुमन (मम्मी का नाम)हूँ.बस मुझे सुमन ही बोलो.और फिर मम्मी मेरे लॅंड को पाकर कर बोली ये तो सो रहा हैं अभी जागती हूँ और वो मेरे लॅंड को अपने मूह मे दल कर चूसने लगी और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया उसके बाद मम्मी मेरे लॅंड को चूसने लगी और मैं मम्मी के मूह को ही चोद्ने लगा थोड़ी देर बाद मैने अपना रस मम्मी के मूह मे ही छोड़ दिया मम्मी ने मेरा सारा रस पी गयी.फिर मैं मम्मी से कहा की मम्मी उस रात कविता प्यासी ही रह गयी थी. मम्मी ने कहा कोई बात नही आज उसे भी खुस कर देना. उसके बाद मम्मी बातरूम मे फ्रेश होने के लिए चली गयी. और मैं भी फ्रेश हो कर सो गया .

रात मे रेखा अपने कमरे मे सोने चली गयी. और मम्मी किचें मे कुच्छ कम कर रही थी और कविता मम्मी का हाथ बता र्ही थी. कविता ने जींस और शर्ट पहन रखा था.मैं धीरे से कविता को पिच्चे से जाकर उसके चुचि को पकड़ लियौस वक़्त मम्मी के हम पिच्चे खड़े थे कविता बल्कुल चौक गयी और धीरे से बोली राहुल मम्मी हैं.तब तक मम्मी भी पिच्चे मूड चुकी थी और कविता के पास आक्र् उसके चुचि को दबाने कविता बिल्कुल चौक गाइयौर मम्मी ने धीरे से मुस्कुरा दिया.फिर मैने कविता को गोद मे उठा लिया और मम्मी बेड पर दल दिया फिर मम्मी भी उस कमरे मे आगाय और कविता के कपड़े उतरने लगी और मैं कविता को चूमने लगा उसके बाद हम तीनो नंगे हो गये हम तीनो एक दूसरे के साथ चिपके हुए थे मैं कविता कीक चुचि को दबा रहा था और मम्मी कविता के दूसरे चुचि को दबा रही थी और कविता मेरे लॅंड को सहला र्ही थी उसके बाद मैने कविता केओ बेड पर लिटा दिया और उसको चोद्ने लगा उसको चोद्ने के बाद मैने अपना लॅंड कविता के मूह मे दल दिया कविता ने मेरे लॅंड को चूस कर फिर से खड़ा किया जब मेरा लंड कड़ा हो गया तो फिर मैने मम्मी को चोदा.उस रात हम तीनो ने खूब मज़े किए.उसके बाद कविता ने मम्मी को बताया की मैं राहुल रेखा के साथ भी खेलना चाहता हैं.मम्मी ने कहा कोई बात नही रेखा भी इसकी बहो मे होगी.मैं भी चाहती हूँ की राहुल सब को खुस करे फिर मैने कहा सुमन (मम्मी) अब बताओ की रेखा को कब मेरे बिस्तर पर लाओगी.मम्मी ने कहा बहुत जल्दी मेरे राजा.अगले दिन कविता एक ब्लू फिल्म की सीडी ले आई और द्वड पर देख रही थी .उस वक़्त मैं अपने कमरे मे सो रहा था और मम्मी मार्केट गयी हुई थी.तभी रेखा कविता के पास और बैठ गयी लेकिन जब वो टीवी पर फिल्म देखी तो उठ कर जाने लगी ती कविता ने रेखा का हः पकड़ लिया और बोली रेखा कहा जा रही हो बैठो.रेखा सर्मा गयी और सिर नीचे कर के चुप छाप खड़ी हो गयी. फिर कविता ने रेखा का हाथ पकड़ कर सोफे पर बैठैई.रेखा का सिर उस वक़्त भी नीचे झुका हुआ था.कविता बोली रेखा क्या हुआ फिल्म अच्छी नही हैं क्या.रेखा बोली दीदी आप ऐसी फिल्म देखती हो मुझे तो सारम आराही हैं.कविता बोली इसमे सर्माने की क्या बात हैं.ज़रा देख तो सही दुनिया मे क्या क्या होता हैं.और मैं तुम्हारी दीदी ही नही तुम्हारी दोस्त भी हूँ.फिर रेखा की नज़ारे टीवी की तरफ गयी.

फिर भिऱेख सर्मा रही थी.फिर कविता बोली रेखा मैने क्या कहा की तुम ये मत सोचो की मैं तुम्हारी दीदी हूँ सिर्फ़ तुम्हारी दोस्त हूँ और कविता रेखा का हाथ अपने हाथ मे लेकर शालने लगी तब रेखा आराम से बैठ कर फिल्म देखने लगी.थोड़ी देर बाद कविता ने रेखा के साथ चिपक कर बैठ गयी और रेखा के चुचि को कपारे के बाहर से सहलाने लगी.थोड़ी देर मे ही रेखा की साँसे तेज तेज चलाने लगी.फिर कविता ने रेखा से धीरे से पुचछा की रेखा कैसा लग रहा हैं . रेखा बोली डिडिड अच्छा लग रहा हैं. फिर कविता उठी और दरवाजा बंद करदी और आकर रेखा को अपने बहो मे लेकर चूमने लगी.फिर कविता ने रेखा के शर्ट के बटन खोल दी और उसके ब्रा मे हाथ डालकर उसके चुचि को दबाने लगी रेखा बुरी तरह मचलने लगीयौर बोली दीदी प्ल्ज़ धीरे से दब्ाओ फिर कविता ने रेखा के चुचि को ब्रा से बाहर निकाला और उसके चुचि को चूसने लगी अब रेखाबिल्कुल बैचन हो गयी थी दोनो एक दूसरे के साथ बुरी तरह से चिपक गयी और एक दूसरे को चूमने लगी.थोड़ी देर बाद वो दोनो अलग हो गयी.फिर कविता ने रेखा से पुचछा की कैसा लगा रेखा बोली दीदी मज़ा आगेया.

फिर वो दोनो टीवी बंद कर के बाहर निकल आई. बाद मे कविता ने ये बात मेरे से बताई.एक दो दीनो के बाद कविता ने फिर ने रेखा के साथ वही खेल खेला और उस दिन रेखा से कविता बोली रेखा तुम ने आज तक किसी लड़कए के साथ कभी सेक्स की हो .रेखा बोली दीदी आज तक मैने आपके सिवा किसी और के साथ कभी नही.फिर रेखा ने बोला दीदी आपने कभी किया हैं क्या कविता बोली हैं .रेखा बोली किसके साथ कविता बोली हैं कोई.रेखा बोली दीदी तब तो आपको बहोट मज़ा आया होगा.कविता बॉलिबाह्ोट मज़ा आया.कविता बोली रेखा तू भी मिलेगी उससे. रेखा बोली हा दीदी.कविता ने रेखा से बोला ठीक हैं तो आज रात को मैं तुझे उससे मिलवा देती हूँ.रेखा बहोट खुस हुई. रात मैं 11 बजे जब मम्मी सो गयी तब कविता रेखा को मेरे कमरे मे लेकर आई और मेरे पास आकर कविता मुझसे लिपट गयी और बोली रेखा ये रहे तेरे जीजू.रेखा चौक गयी और कुच्छ नही बोल पाई. फिर मैं रेखा के पास जाकर उसके चुचि पर हः रखा ही था की रेखा पिच्चे की ओर हट गयी और बोली भैया प्ल्ज़ मैं आपके सतह कभी नही.और दीदी आप भी भैया के साथ मैं सोच भी नही सकती थी.और रेखा वापिस जाने लगी.तभी कविता ने मुझे इसरा किया और मैं रेखा को झट से पाकर कर अपनी ओर खिच लिया और कविता ने जल्दी से दरवाजा बंद कर दी.फिर मैने रेखा को बिस्तर पर पटक दिया और बोला रेखा ईस्वक़्त मैं तुम्हारा भैया थोड़ी ना हूँ और मैं अपने पैंट के बेल्ट को खोलने लगा ये देख कर रेखा रोने लगीयौर मुझसे मिंन्नाटे करने लगी की मैं उसे छ्चोड़ दूं.मैं और कविता उसे हर त्रह से समझा चुके पर वो मानी नही हर वक़्त वो बस यही बोलती रही की मैं भाई बहन के रिस्ते को नही तोड़ सकती.फिर कविता ने कह की राहुल जाने दो.पर मैं कैसे छ्चोड़ सकता था रेखा जो ईस्वक़्त मेरे सामने थी 15 साल की कच्ची काली जो बिल्कुल ही रेखा की तरह स्वीट .मैने सोचा की रेखा मम्मी को बोल कर भी मेरा कुच्छ नही बिगड़ सकी क्यो ना मैं जबारजस्ति ही अपनी ख्वाहिस पूरी कर लू. फिर मैने रेखा को जाने के लिए बोला रेखा बेड से उठ कर दरवाजे की तारा बरही तभी मैने रेखा को पिच्चे से पकड़ लिया और उसके शर्ट को खिच कर खोल दिया और उसे बेड पर पटक दिया रेखा रोने लगी और बोली भैया प्ल्ज़ और कविता चुप छाप एक तरफ खड़ी थी मैं आहिस्ते से बेड पर बैठ गया उर रेखा का पैर पकड़ कर अपनी ओर खिच लिया और उसका स्कर्ट भी खोल दिया . अब रेखा इरफ़ ब्रा और पैंटी मे थी उसका चिकना ब्दान देख कर मेरा लॅंड बिल्कुल टन गाओर मेरे मूह मे पानी आगेया की आज मीं एक ऐसी लड़की को चोद्ने जरहा हूँ जो बिल्कुल पारी की तरह हैं और मेरी बहोट दीनो को ख्वाहिस थी रेखा को चोद्ने की. रेखा अपने दोनो हाथो से अपने बदन को ढकने की कोसिस कर रही थी फिर मैने रेखा को एक बार फिर से समझाया की देख रेखा मैं उजहे आज छ्चोड़ने वाला तो हूँ नही इसलिए ये जिद्ड़ छोड़ कर हमारे साथ मज़े कर बहोट मज़ा आएगा तुझे कविता ने तो बताया ही.फिर कविता बोली रेखा दिक्कत क्या हैं तुम्हे बस यू समझ ले की ये तुम्हार भाई नही एक लड़का हैं और तू एक लड़की और अग्र तू ये सोचती हैं की तेरे च्चिलाने से कोई आजाएगा तो तू जानती ही हैं की कमरे से आवाज़ बाहर नही जा सकती.और मैं तुझे बचाने वाली हूँ नही.और तू नही मानी तो राहुल तो जबारजस्ति करेगा फिर दर्द तुझे ही होगा इसलिए कह रही हूँ बस एक बार राहुल के साथ मज़े लेले फिर तुझे राहुल कभी भी परेसन नही करेगा और अगर तू नही मानी तो राहुल एर साथ रोज ज़बरजास्ति करेग इसलिए कहती हूँ बस एक बार राहुल को मज़ा लेने दो फिर हम तुम्हे छ्चोड़देंगे.रेखा फिर कुच्छ नही बोली .

फिर मैने रेखा के करीब जाकर उसके चुचि को पाकर लिया और रेखा चुप छाप बैठी रही उसके बाद मैं और कविता रेखा के चुचि को सहलाने लगे फिर मैने रेखा के सारे कपड़े उतार दिए और अपने भी और कविता ने भी अपने कपड़े उतार दी.उसके बाद मैं रेखा के चुचि को चूसने लगा और कविता मेरे लॅंड को मूह मे लेकर चूसने लगी थोरी देर मे रेखा भी गरम हो गयी उसकी नींबू जैसी चुचि बिल्कुल टन गयी और रेखा के मूह से सिसकारी निकालने लगी फिर रेखा बोली भैया ल्ज़ अब बर्दस्त नही होता प्ल्ज़ कुच्छ कारोना मैने कहा क्यो आब क्या हुआ तब तो भाई बहन की बाते कर रही थी रेखा बोली प्ल्ज़ भीया अब माना मत करो प्ल्ज़ जल्दी से कुच्छ करो.फिर मैने रेखा को बेड पर लिटा दिया और उसके बाद अपने लन्ड़ को उसके चूत मे डालने लगा उसका चूत बहोट ही टाइट था फिर कविता ने रेखा के चूत पर आयिल डालकर उसे शालने लगी फिर मैने अपना लॅंड रेखा के चूत मे डालने लगा तभी रेखा चिल्ला पाई और बोली भैया प्ल्ज़ इसे बेर निकालो बहोट दर्द हो रहा है.कविता ने रेखा के चुचि को दबाने लगी और बोली पहली पहली बार ऐसा ही दर्द होता हैं फिर सब ठीक हो जाएगा फिर मैने

रेखा को आराम आराम से चोद्ने लगा थोड़ी देर मे रेखा ने मुझे ज़ोर से पाकर ली मुझे लगा अब उसका चूतने वाला हैं और मैं ज़ोर ज़ोर से करने उसके बाद रेखा मुझसे बुरी तरह से लिपट गयी और ज़ोर ज़ोर से साँसे लेने लगी और उसके बड़जोर की एक सिसकारी ली और संत हो गयी तभी मेरा भी चूत गया उर मैं भी अपने लॅंड को बाहर निकल कर हफने लगा. फिर हम तीनो थोड़ी देर तक शांत रहे फिर कविता मेरे लॅंड को सहलाने लगी फिर मैने रेखा के चुचि को सहलाने लगा और उसके बाद मैने अपना लॅंड रेखा के मूह मे दल डीयओर रेखा मेरे लॅंड को चूसामने लगी और थोड़ी देर मे ही मेरा लॅंड फिर से टंकार खड़ा हो गया फिर मैने कविता को चोद्ने लगा इस तरह मैने कविता की मदद से रेखा को चोदा.दिन सतेरदे था सुभह ये बात कविता ने मम्मी की बताई की रात मे मैने किस तरह से रेखा को चोदा.अब अगली बार मैं आप लोगो को बतौँगा की फिर मैने मम्मी के सामने कैसे रेखा को चोदा .

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


बेटी की चुत मै बाप ने पेले थुक डाला फिर लंड डालासामूहिक चुदाई दीदी की जीजा.के साथ कहानियाsaheli ki bahen ma bhabi sahli or me sex storysमाँ और एन्टी को सैट में कोडाचाचा ने पेसे के बदले बतीजी की चुत चोदीमेरा भाई मेरी चूत का सारा रस पी गयापति का कर्ज चुकाने के लिए चुद्वाना पराभतीजे ने मुझे बहुत चोदाहिंदी पूनम को सारी रात सोने नहीं दिया सेक्सी कहानियाँदारु के नशे मे पापा ने चुत मारी चुदाई कहानीbari didi ne apne bhanje se chudwai xxx porn vdoभारती सैकस हीनदी मे बोलते हुयेmammy ki chudi Papa ne dabble Land se kariwww.bibi ke चौड़ाई गैर mard ka saath story.comphupheri bahan ki jabrjast chudai sexantrwasna jabrdasti xxx stori 2019Hothindisexstory maa ke chudaibehan ko choda maabnaya jija namarad tha hindi sex storypapa and buhaxxxBeti ko rakhel बनायामामीको चोदने का मौका विडियोdesi bua aur betasex hindi storyमेरी चूत का गैग बैगhttps://allsvch.ru/justporno/sasur-aur-bahu-ki-kamuk-story/Mummy Chud gayi paraye Mard Se majburi me Hindi sex storymast kamsin vidwa budi aurat ki tight chut mare gavn meसेक्सी बीबी को चोदा ग्रुप मेंchudaisexkahanixxx emage bhai bahan kiBeti ma banay sex storibap re itna mota m nhi le paugi sexy storiesमेरी बीबी और मेरी माँ की साथ हॉट सेक्स कहानी कामवासनाmakaan malik ki 15saal ki beti ki chudaisexy bhabie khaniekahne xxxमैने अपने bhai का lula अपनी gand में दियाजुड़वा भाइयों ने मिलकर चोदा अंतर्वासनामा ताई बुआ की चुढाई की ईषटोरी कहानीchachi ke boobs sahlaye storiesससू मा कि अंतरवासनाX story pati ke boss ne bur far dimummy bata Cuday antaravasna Hindi story .comजेठ जी जेठानी की चूत मार रहे थेनीरज ने मामी के साथ में सेक्स किया एक्स एक्स एक्स हिंदीsasur aur nau babu ki sex kahaniएक औरत को चार आदमियो ने मिलकर की चुदाई wife के जगह गलती सेSister के साथ Xxx khaniya bhn ki frdship krvai sexy stryWww.sexhindistoris.comपापा बेटी बच्चा चहिए लौला गाडshasu mako zxx bedioसेकसी बिडियो कुशती डालकरSat me New papaSexy khani hindi new mummi didi papa ek sat chudaihindi chaci ke sath sex store with photoससुर ने मेरी चूत को चाट चाट कर बेरहमी से चोद डालाजन्मदिन पर चूत चुदाईstorygaanv me bra ki dukanMaa Ko LGA chudwane k shonk sex storyक्सक्सक्स माँ चोदे पोर्न होटलjalpur xse bf phito sareeSex video sapaneme bete ne maa ko legis meBhabhi ko karwa chauth pr chod asex storykaki ki bacche ke khatir chudai स्टोरीअंधेरे में सगी माँ को चोदामेने भाभी को कपड़े बदलते देखा हिंदी सेक्सी कहानियाँ saas ne namard ka bahana banakar mujhse chudwayaSex stori papa ko phasaya hotal memasrne ne muje chodneko kha sexystoreमाल पेल चोद गाड सेकसी विडीयो कोमडाकु ने बिबि का चुदाइ कियापहले मेरी जबरन सामुहिक चुदाई हुई फिर मर्जी से चुदवाया चुदाई कहानीकाजल माँ पिताजी ke दोस्त ne रैंडी bnaa deya sexi कहानी हिंदीsasu मा की codai वीडियो saribali हिंदी खुला३०सालकि लडकि को सात किया जबरदसतिPaapa ka dosto na party ma lajakar maa or diddi ko passab pikar chodaघर के सारे मर्दो ने मेरी चुडाई कीSex story sis bro telmalish hindiKya engagement K baad sex chat ya call sex karte haiPapa ke sat sex kahane hanemunRakshabandhan behan ko gift diya hindisexstoryमॉ को घर से बाहर शादी में चाेदाभिकारी आणि भाभी की सेक्सी कहानिया हिंदीबेटिने उछल उछल कर पापा से चुदवाया सेक्स स्टोरीमेरी पत्नी मीना को मेरे दोस्त से अनतरवासनाChoot chhoti karne aur chodne ke tipSon ne Sister ko jabrdasti chodai karwai Xxx vediohotsexstory.xyzसेखसि बिडियो चोदाई हिन्दी मे बातचित करते हुयेपहली चुदाई की कहानीaunty ki chudaiuncle sex storysexstoreyhendenewबहू माईके की चुदक्ङ थी हिनदी सैक्स कहानीsexy suhagraat seal juice Tuti Hai Kaun Bataye wala sexynew hindi vidio adio antarwasnachachi ko gali dkar choda sexkhani.comanjaan chachi bhatije gandi gali wali chudai storry hindi me