दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु : मेरी सेक्स कहानी

loading...

मैं राधिका वर्मा, दिल्ली से, आज मैं आपको अपनी एक सच्ची कहानी बताने जा रही हु ताकि मैं अपने मन को हल्का कर पाऊं, मेरे प्यारे दोस्तों कभी कभी ज़िंदगी में कुछ ऐसा हो जाता है जिसको ना करते हुए भी करना पड़ता है, चाहे वो गलत ही क्यों ना हो, आप में से भी कई लोगो के सामने ऐसी स्थिति आई होगी जिसको नहीं चाहते हुए भी गलती कर बैठे, और कई बार तो ऐसे रिश्तों में हो जाता है जिसको भारतीय समाज में अलग दृष्टि से देखि जाती है, आज मैं आपको अपनी एक ऐसी ही कहानी कहने जा रही हु,

loading...

मैं 36 साल की हु, और विधवा हु, आप सोच रहे होंगे की 36 तो हां मेरी शादी 16 में ही हो गई थी, और और मैंने अपनी बेटी की शादी इसी साल ही की, मुझे और कोई संतान नहीं था सिर्फ बेटी के अलावा, मेरा दामाद गुडगाँव में एक कॉल सेंटर में मैनेजर है, मेरी बेटी एक पब्लिक स्कूल में नौकरी करती है, घर पे मैं होती हु, बेटी सुबह 7 बजे ही चली जाती है और 4 बजे शाम को आती है, मेरा दामाद दिन में ३ बजे जाता है और रात को २ बजे आता है.

जब मेरी बेटी 8 साल की थी तभी मेरे पति का देहांत हो गया, मैं बहुत ही खुले विचार की महिला हु, मैं ना तो अपनी बेटी को किसी चीज की कमी होने दी ना तो मैं कभी ऐसे रही की मैं एक विधवा हु, पर मैंने कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था, पति इतना पैसा छोड़ के गए थे उससे अभी तक की ज़िंदगी काफी आराम से चल रही थी, पर जब से दामाद घर जमाई बना तब से काफी कुछ चेंज हो गया. कैसे मैं आगे बताती हु,

एक दिन मैं किचन में काम कर रही थी, बेटी मेरी जॉब पे गई थी, सुबह से आठ बज रहे थे मेरा दामाद अनिल उठा और किचन में आया और मुझे गले से लगा के हैप्पी बर्थडे मम्मी जी कहा, मेरे आँख से आंसू छलक गए, क्यों की इसी तरह से मेरे पति भी मुझे बर्थडे विश करते थे, मैं थोड़ी नरवश हो गई और रोने लगी, मेरा दामाद मुझे गले से लगाए रखा, मुझे बहुत अछा लग रहा था पर मैंने महसूस की की मेरी छाती उसके छाती से चिपक रही थी और ब्लाउज से बाहर आने लगी मेरा आँचल भी निचे गिरा हुआ था, और अनिल ये सब देख रहा था, मैं शर्मा गई और अपने पल्लू को ठीक की, मैं अपने दामाद को थैंक्स कहा,

उस दिन मैं दिन भर सोचते रही कैसे वो मुझे अपने सीने से चिपकाये हुए खड़ा था क्यों की काफी दिनों के बाद मुझे किसी मर्द ने स्पर्श किया था वो भी इस तरह से, सच पूछिये तो मेरा मन डोल गया और मेरे मन में कई सारे विचार आने लगे, ऐसा लगा की रेगिस्तान के पेड़ में किसी ने पानी डाल दिया और वो पौधा धीरे धीरे लहलहाने लगा, वही मेरे साथ भी होने लगा, उस दिन मेरे मन में अजीब सी कौतुहल थी, पर आगे सिर्फ मेरे तरफ ही सिर्फ नहीं थी उधर भी था, अनिल जब भी सुबह सुबह उठता अब वो गुड मॉर्निंग कहके, मुझे अपने गले से लगा लेता, क्यों की उस समय बेटी होती नहीं थी.

एक दिन अनिल ने गले लगाते हुए मुझसे कहा सासु माँ आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो, जब मैं आपको गले से लगाता हु मेरे रोम रोम सिहर जाता है, मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है, मैं आपसे सेक्स करना चाहता हु, मेरे तो होश हवास उड़ गए पर ये होश उड़ने का नाटक था, मैंने कहा अनिल ये गलत है मैं तुम्हारी सास हु, अगर ये सब ज्योति को पता चलेगा तो क्या कहेगी, अनिल ने कहा सासु माँ देखो मैं आपकी फीलिंग्स भी समझ रहा हु, पर अगर आप मेरे से सम्बन्ध बनाते हो तो हमारे तीनो के रिश्ते और भी प्रगाढ़ हो जायेगा, आप मना नहीं करो प्लीज मैं वादा करता हु आप दोनों को मैं बहुत खुश रखूँगा.

मैंने चुचाप खड़ी थी मेरी नजर झुकी हुई थी, और जब नजर उठाई तो वो हाथ फैलाये खड़ा था, और हम दोनों एक दूसरे को बाहों में सामा गए, मैं उसकी मजबूत बाहों में थी वो मेरी पीठ को टटोल रहा था और हाथ निचे करके मेरी चुतड के उभार को दबाते हुए अपने लण्ड के पास ले गया और मेरे होठ को चूसने लगा, मैं भी समा जाना चाहती थी, आज रेगिस्तान में वारिश हो रही थी, बारह साल के बाद मैं किसी की बाहों में झूल रही थी. हम दोनों एक दूसरे को होठ को इस तरह से चाट रहे थे जैसे किसी प्यासे को पानी मिल गया हो.

उसके बाद मेरे दामाद मुझे उठा लिया और मुझे बेड रूम में लेके बेड पे लिटा दिया और आँचल को निचे कर के मेरे चूच को अपने हाथो से सहलाने लगा, मैं उससे देख के मुस्कुरा रही थी, और बोली ये बात सिर्फ मेरे और आपके बीच में ही रहनी चाहिए, अनिल ने मेरे सर पे हाथ रखा और कहा आप विस्वास करो मैं किसी को नहीं कहुगा चाहे जो भी सिचुएशन हो जाये, और मैंने फिर से उसके होठ को चूसने लगी, अनिल ने मेरे ब्लाउज के हुक को खोल दिया और मेरे चूच को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा मेरा बड़ा बड़ा चूच ब्रा से निकलने के लिए बेताब थी मैंने खुद ही दोनों को अपने ब्रा से आज़ाद कर दिया, अनिल दोनों को बारी बारी से चूसने लगा और फिर हाथ निचे किया और साडी को ऊपर उठा के मेरे चूत को सहलाने लगा, मैं उस दिन पेंटी नहीं पहनी थी,

मेरा चूत काफी गरम और गीली हो चुकी थी, मैं दो दिन पहले ही चूत के बाल को साफ़ किया था तो अनिल ने कहा आपका चूत तो बिलकुल साफ़ है तो मैंने कहा आपको कैसा चूत पसंद है तो अनिल ने कहा मुझे क्लीन शेव चूत पसंद है मैंने रात को ज्योति के चूत की बाल को खुद अपने हाथो से साफ़ किया है रेजर से. और फिर अनिल निचे जाके मेरी चूत को चाटने लगा. मैं तो बस आअह आआह आआह उफ्फ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ कर रही थी . आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है. मैं पागल हो रही थी मुझे लण्ड चाहिए था, मैंने अनिल के लण्ड को खुद ही निकाल ली और हिलाने लगी फिर मैं अपने मुह में ले ली अनिल का लण्ड इतना मोटा था की मेरे मुह में आ नहीं रहा था अनिल ने मुह को थोड़ा चिर के लण्ड डाल दिया मुझे सांस लेने में भी प्रॉब्लम होने लगी थी मेरे कंठ तक लण्ड जा रहा था.

पर मैं उसके लण्ड को मुह में बर्दाश्त नहीं कर पाई मैं कहा अनिल आज तुम मुझे इतना चोदो की बारह साल की कमी पूरी हो जाये अनिल मेरे टांगो को अलग अलग किया और चूत को चिर के देखा और बोला ओह्ह माय गॉड आपकी चूत तो एकदम लाल है ऐसा लग रहा है आप वर्जिन है, मैंने कहा मत तड़पाओ चोद दो मुझे और उसने मेरे चूत पे लण्ड का सुपाड़ा रखा और लण्ड को चूत में डालने लगा पर चूत के अंदर लण्ड प्रवेश नहीं कर पा रहा था, फिर अनिल में चूत में और लण्ड पे वेसलिन लगाया और जोर से धक्का मार पूरा लण्ड मेरे चूत में समा गया, एक अलग ही आनंद की अनुभूति हुई, मैं अब अपना गांड उठा उठा के चुदवाने लगी.

मेरे मुह से सिर्फ आअह आआह उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ निकल रहा था और वो मुझे चोदे जा रहा था, करीब वो मुझे १ घंटे तक चोदा मैं पसीने से तर वतर हो गई थी, अब मैं पूरी तरह से संतुष्ट थी मैं तीन से चार बार झड़ चुकी थी, अनिल एक गहरी सांस लेते हुए और और जोर से आआअह की आवाज करते हुए सारा माल मेरे चूत के अंदर ही डाल दिया और दोनों एक दूसरे को पकड़ को सो गए, फिर क्या था रात मेरी ज़िंदगी काफी अच्छी कटने लगी, मैं सुबह होने का इंतज़ार करती थी कब सुबह हो और अनिल मेरी बाहों में हो, क्यों की वो रात को मेरी बेटी के साथ सोता था मैं तो दिन की थी.

पर इस महीने गड़बड़ हो गया है, मैं घर में किट लाके चेक की मैं प्रेग्नेंट हु, क्यों की आठ माहवारी हुए आठ दिन हो गए है, किट में पॉजिटिव है, क्या करूँ अब तो मैं अपने दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु, क्या करूँ समझ में नहीं आ रहा है,

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


apna wife ke grand mara mms desipass hone ke liye principal se chudwai Majburi mein Hindi sex storysex story in Hindi nocker patni Mere pati ke Jane ke bad mene apne draivar Se gand mrwai मस्ती में आकर रण्डी बनना पड़ाbehan se mandir me sadi aur suhagrat hindi chudai kahaninai bhu ko pure pariwar ne ek sath diwali pe choda hindi sexy storyबहन को रगड़ कर खूब चौड़ाmummy ko mota land dikha kar fasaya bathroom me pataya chudai ke liye khet meGand ma xxx dawaly chday Gand hdma ke dusri shadi or suhagrat ke sax storikarky ne khoti chodi xnxOld vedhava buva Hindi saxi Story मेरी माँ मेरे दोस्त से चुदती हैं और मैं उसको देख कर मूठ मारता हुPolish.baale.ne.jail.me.maari.chutg.lund.xxx.comDidi some ka natak thand me chudai sex story Hindi Maa mujhe bahanchod banaya hindi kahaniXxx.com chatak choot story with photos Mummy ka gangbang gair mard se maa ki bur chudai ki kahaniya.comnukrani ka muth piya storyek chhote bachche ne poori raat thukai kari chudai ki kahaniyaदेसी बूर की चूदाई हिन्दी स्टोरी गाली के साथNabhhi ko chhune se ldki utejit hogiसेकसि महिला औरत का करे जो साडी उतार देगी और बूर मे पेलवाने लगे xx.xxx bfrinu.medam.chodai.seksisex story didi ne chudbaya nigro se hindibibi ko uthakar mara fir chodaवो मजदूर का काला मोटा लण्डhindi sexy storiesbhabhi ka muth marte pakdi kai porn videoजब कोई लरका लरकी को गार मारता है तो दरद होता हैkhaniya hindexxxxxxचूची और मुँह मे जम की चुदाई देशी 2019 Newमम्मी बेटा सास दामात चोदाई जबरदस्त चोदाई कहानीXxxjawani marathi sexykothe par chida kahani sexनॉनवेज स्टोरी फ़क बय बरोथेर सिस्टर फ्रेंडसुहागरात बेताबी चुदाई की बीयफजवान चाची की चुची का दुध पिकर नींद में सुहागरात मनाई कहानियाँmosa ne chut sahlaibhangi ki chodai hotal medidi ko muta muta ke group me pela kahaniUrdu stories must xxx indian stosiesfamily ki raslela dekhi antarvasnabharum me didi ne bur chodana sikhaya storyChudakkad priwar ki xxxx story in HindiWww.sasudamadhindisex.comचुदाई रेल मे साला कि पतनीमरे हुए माँ बाप के भाई बहन ने मजबूरी में सेक्स काहानीयासुगा रात कि चूदाई दिखाबहन ने पैसा लेकर चुदवाया कहानीपुलिश बाली कि चुदाई 9 ईच लँडमराठी सुहागरात सेक्स सटोरिसेक्स की काहानीxxx hd मोटी लडकी गाव की सलवार खोलकर चोदवाती हुईmummy guard se chudiगाओं की भाभी की बूब दबा ki kahani bhai ne dosto sang bde lundo se chodatrin me maa chud gayi anjan se story.comladaki boss ko apane ghara bulakar sexu video banayaapni malkin ki aandar viyar chati fir chut chati x videoantravasna hendi sex kahane newसेक्सी कहानी लिखा हुवा बहन और चाचा काबुर लनड कि अनदर बहर लङकी चोदयभाई ने बुआ की छोरी को चोदा बंद कमरे मेंxxx hindi stoey rastay me train me jabarjasti pakad kar pel diye sabne hindi storyNew hindi sex stories माँ बुवा पापा पापा धनदा करते हेsistar tv ko jabarajaste sexbhahin bhau sex video maratiडांस करके अंकल ने मेरी गाँड दबा दीchachari bahan ki sil toda sex kahaniyaसंतोषी की चुदाई स्टोरी इन हिंदी फॉन्टबहु और बेटी की कामुकता भरी चुदाईबडे बडे मोटे मोटे बूब वाली भतिजी हिंदी चुदाई काहानीसेकसी चूतsuhgrat xxx hd indeyपापा ने मेरी च** दादा रे मोटे ल** से