Desi Sex Kahani खूबसूरत क्लाइंट से पैसो के बदले चूत लेने का सौदा किया

loading...

Desi Sex Kahani: सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

मेरा नाम आशीष पाण्डेय है। मैं दिल्ली में रहता हूँ। मैं एक ज्योतिषी हूँ और लोगो की कुंडली बनाकर पैसा कमाता हूँ। आप मुझे एक ढोंगी आदमी भी कह सकते है। मैं पढ़ लिखकर कोई नौकरी नही पा सका। इसलिए अब ये वाला काम करके पैसा कमा रहा हूँ। दोस्तों मुझे खूबसूरत औरते बहुत अच्छी लगती है। कई बार मेरे पास ऐसी औरते आती है जो अपने भाग्य से बड़ी परेशान होती है। उनके पास पैसे तो नही होते है पर जवानी और खूबसूरती भरपूर मात्रा में होती है। ऐसे में मैं उनकी कुंडली बनाकर अपना ज्योतिष परामर्श दे देता हूँ और बदले में उनकी मस्त मस्त चूत को चोद लेता हूँ। वो भी खुशी खुशी चुदवा लेती है। कुछ महीनो पहले ऐसा ही हुआ था। काजल नाम की एक बड़ी खूबसूरत औरत ने मुझे काल किया।

loading...

“हलो! क्या आशीष जी से बात हो रही है???” वो बोली

“हाँ मैं आशीष पाण्डेय बोल रहा हूँ”

“सर! मैं आजकल बड़ी मुसीबत में पड़ी हूँ। मेरे गृह नक्षत्र बुरी अवस्था में चल रहे है। आपसे मिलना चाहती हूँ” काजल बोली

“5100 रुपये मुझसे मिलने की फीस है। आप पैसा मेरे अकाउंट में जमा करवा दीजिये। अपोइन्टमेंट ले लीजिये फिर मुझसे मिल पाएगी” मैं बोला

“अरे सर!! मैं तो बड़ी गरीब औरत हूँ। पैसा नही है मेरे पास। कहाँ से लाऊँगी इतना पैसा मैं” काजल बोली

मैंने उसे ऑफिस आने का टाइम बता दिया। अगले दिन वो लेडीस काजल मेरे दफ्तर पर सुबह 10 बजे आ गयी। मैं अपने केबिन में बैठा हुआ था। काजल दरवाजे को धकेल पर अंदर आई। मैंने उसे बैठने को कहा। वो खूबसूरत औरत थी दोस्तों। वो काले रंग की साड़ी ब्लाउस में थी और उम्र कोई 30 साल होगी। उसका सिर काफी बड़ा था और अच्छे घर की औरत दिख रही थी। उसका बदन काफी भरा हुआ था। मेरी नजर उसके ब्लाउस पर जाकर ठहर गयी। काजल की चूचियां का साइज 36 इंच से अधिक ही था। उसका फिगर 36 30 38 का था। उसके ब्लाउस पर उसकी साड़ी का पल्लू था जो काफी उभरा हुआ था।

“बताइए कैसी समस्या है आपको काजल जी???” मैंने पूछा

वो मुझे अपना दुखड़ा रोने लगी। उसके पति की सरकारी नौकरी छूट गयी थी। उसके सास ससुर की तबियत बहुत खराब थी। ससुर को ब्लड कैंसर जैसी घातक बिमारी हो गयी थी और उसका परिवार बड़े मुश्किल दौर से गुजर रहा था।

“मैं आपको सभी तरह के समाधान बता दूंगा। आपके परिवार के सारे संकट टल जाएंगे पर आपको 5100 रुपये मेरी फीस देनी होगी” मैंने कहा

“आशीष जी!! मेरे पास पैसा नही है। बोलिए तो कुछ और दे दूँ” काजल बोली और अपने ब्लाउस की तरफ आंखो से इशारा करने लगी

मैं मुस्कुराने लगा।

“आप इतनी खूबसूरत है की मैं इस चीज से काम चला लूँगा” मैं बोला

उसके बाद उसे लेकर सोफे पर बैठ गया। काजल बहुत खुले मिजाज वाली औरत थी। उसका चेहरा गोल था और काफी बड़ा सर था। उसके गाल सफ़ेद चिकने थे और उसका चेहरा बहुत आकर्षक था। वो मुझसे चिपकने लगी। मैं भी उसके करीब आ गया। फिर हम दोनों किस चालू कर दिए। काजल शादी शुदा औरत थी। मुझे ऐसी औरतो को खाना बहुत पसंद था।

“मुझे किस करो!!” मैंने कहा

काजल ने मेरे चेहरे को दोनों हाथो से पकड़ लिया और हम दोनों पास आकर किस करने लगे। मैं उसके होठो को देख रहा था। काजल के होठ अंगूर जैसे थे। उपर नीचे दोनों ओंठ काफी मोटे मोटे और सेक्सी थे। मैं उसे चूसने लगा। वो भी मस्ती से चुसाने लगी। फिर वो भी मेरी तरह अपना मुंह चला चलाकर मेरे होठ चूसने लगी। इस तरह गरमा गर्म चुम्बन करने से हम दोनों ही काफी सेक्सी फील करने लगे। वो सोफे पर और आगे खिसक आई और फिर 10 मिनट तक मेरा गहरा चुम्बन करती रही। ऐसे में मेरा लंड खड़ा हो गया। मैंने उसे कमर से पकड़ लिया और खुद से चिपका लिया। वो मेरे गले लग गई।

“आई लव यू!! काजल जी!! आप तो मस्त औरत है” मैं उसकी तारीफ़ में बोला

“आप भी कुछ कम नही है आशीष जी!!” काजल बोली

उसके बाद खुद ही मेरी गोद में आकर बैठ गयी। मैं उसके गले पर किस करने लगा। काजल “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा सी सी सी” किये जा रही थी। उसका गला पतला और लम्बा था। काफी खूबसूरत था। मैं किस कर रहा था, काजल को मौज मिल रही थी। मैं अब उसके ब्लौस के उभार की तरफ देखने लगा। उसने खुद ही अपनी काली साड़ी ब्लाउस के उपर से खींच दी और हटा दी।

“लो देख लो अच्छे से” काजल बोली

काले ब्लाउस में उसका गोरा बदन कुछ जादा ही जालिम दिख रहा था। उसके हाथ और बाहे कितनी दूधियाँ दिख रही थी। काजल के ब्लाउस के गहरे गले से उसकी मस्त मस्त कत्ल कर देने वाली चूचियां मुझे दिख रही थी। मैं अपना मुंह उसके ब्लाउस के उपर ही रख दिया और किस करने लगा। काजल ने मेरे सिर को पकड़कर अंदर की तरफ दबा दिया। अब मेरे ओंठ उसकी मस्त मस्त 34” की चूचियों तक पहुच गये। मैं किस करने लगा। काजल भी मस्त होने लगी। “……अई…अई….अई…..इसस्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” करने लगी। अब मुझे कैसे भी उसकी सफ़ेद संगमरमरी चूचियां देखनी थी।

“जानेबहार….ब्लाउस खोलो न” मैंने कहा

काजल खोलने लगी। वो बटन को खोलने लगी और उतार दी। अब उसकी 36 इंच की विशाल पर्वत जैसी चूचियां मुझे मिल गयी थी। दोस्तों उसकी चूचियां काली ब्रा में कसी हुई थी और तिकोनी तरह की दिख रही थी। जैसे 70 के दशक में इंडियन फिल्मो में श्रीदेवी खुले वाले ब्लाउस पहनती थी जिसमे उसकी चूचियों का साइज और उभार साफ़ साफ दिख जाता था वैसा ही लग रहा था। काजल की ब्रा मुझे उसकी ही याद दिला रही थी। मेरा लंड तो ये सब देखकर उफान मारने लगा। आशीष जल्दी से चोद डालो इस मस्त माल को। अब देर मत करो। मेरा दिल मुझसे कहने लगा। मैंने अपना मुंह काजल के चूचियों के बीच में ही रख दिया।

उसके मस्ताने जिस्म की खुशबू लेने लगा। ओहह्ह्ह्ह….क्या खूब भीनी भीनी महक थी उसके सेक्सी बदन की दोस्तों। फिर मैं हाथ से दोनों दूध को ब्रा के उपर से हाथ लगाने लगा। मैं कामुक होकर सहलाने लगा। फिर दबाना शुरू कर दिया। काजल फिर से “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…”करने लगी। उसकी सिसकियाँ मुझे जोश दिलाने लगी। मैं उसकी काली ब्रा पर चुम्मा लेने लगा। खेलने लगा। फिर जोर जोर से उसके रसभरे दूध को दबाने लगा। वो मेरी बाहों में मचलने लगी। उसकी उफनती जवानी देखकर मेरा दिमाग खराब हो रहा था। उसकी काली नोकदार ब्रा को मैं हवस में आकार मुंह में पकड़ लिया और काटने लगा। काजल की बुरी हालत हो गयी। कुछ देर मैंने उसकी ब्रा नही खोली और दूध में ब्रा सहित ही मुंह में लेकर चूसता रहा। कुछ मिनट ऐसे ही आनन्द लेता रहा। फिर काजल ही अपनी ब्रा के हुक खोल दी।

अब उसकी 36 इंच की विशाल नदी जैसी उफनती नंगी चूचियां मेरे सामने थी। मन कर रहा था की दांत लगाकर काट खाऊँ। पर पहले मुंह में भरके चूसना था मुझे। सबसे पहले उसके दूध की खूबसूरती को कुछ देर ताड़ने का दिल था। मैंने उसके कोमल मुलायम दूधो को हाथ में ले लिया और पास से देखने लगा। काफी कड़ी कड़ी चूचियां थी दोस्तों जो पूरे गर्व से टनटनाई हुई थी। मैं हाथ में लेकर उसकी जवानी देख रहा था। सफ़ेद दूध की निपल्स के चारो तरफ काफी बड़े बड़े चमकदार काले गोले बेहद कामुक दिख रहे थे। मैं तो उस अद्भुत करिश्मे को कुछ देर तक देखता रहा। “कितना भाग्यशाली होगा काजल का मर्द जो रोज रात में इसके जैसी जवान औरत को चोदता होगा। इसके मस्त मस्त आम को मुंह में लेकर चूसता होगा” मैं सोचने लगा।

“कहाँ खो गये आशीष जी!! …..सी सी सी सी…. मुंह में लेकर चूसिये ना” काजल खुद ही कहने लगी

फिर मैं हाथ से कस कसके दबाने लगा। मुंह में लेकर उसकी सफ़ेद चूची को मुंह में भरके चूसने लगा। काजल किसी चुदक्कड औरत की तरह “आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा..”करने लगी। दोस्तों आप लोग तो जानते ही होंगे की 36 इंच के दूध कितने बड़े बड़े होते है। मैं तो मुंह में लेकर चूस रहा था। जल्दी जल्दी मुंह चलाकर किसी छोटे बालक की तरह रस पी रहा था। काजल मेरा पूरा साथ निभा रही थी। वो भी अच्छे से मुझे पिला रही थी। मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मेरा लंड मेरी पेंट में कड़ा हो गया था। अब मैं अच्छे तरह से चोदू मर्द बन बैठा था। मैं कामुक होकर काजल की दोनों दूध को चूस रहा था। उसकी आहे और कराहे मुझे पागल बना रही थी।

“….उंह उंह उंह हूँ..पी लो.. आशीष जी!! समझ लो की मैं आपकी ही बीबी हूँ…चूसो और चूसो!!” काजल कहने लगी

मैंने तबियत भरकर उसके दूध की चुसाई कर डाली। काजल भी तृप्त हो गयी। उसके दोनों दूध मैंने कसके चूस डाले। मुलायम स्तनों पर अनेक बार मेरे दांत चुभ गये थे।

“साली रांड!! तेरे मस्त मस्त कबूतर को लंड से चोदने का दिल है” मैं बोला

“तो चोद लीजिये आशीष जी” काजल किसी छिनाल की तरह बोली

मैंने उसी वक्त अपने सारे कपड़े उतार दिए। अपने 11 इंची लंड को हाथ से पकड़कर जल्दी जल्दी मुठ देने लगा। मेरा लंड तो कबसे काजल की सेक्सी चूत को चोदने के लिए मरा जा रहा था। दोस्तों मेरे ऑफिस का सोफा बहुत ही गुलगुल, नर्म और बढ़िया था। बहुत महंगा सोफा था ये।

“लेट जाओ काजल” मैंने कहा

वो सोफे के एक साइड लेट गयी। मैं अपने लंड को पकड़कर उसकी लपर लपर करती बड़ी बड़ी चूचियों पर पीटने लगा। काजल चुदासी होकर “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..”करने लगी। मैं उसकी दाई चूची को हाथ से पकड़ा और लंड उसकी काली निपल में रगड़ने लगा। काजल को बड़ा मजा आ रहा था। फिर उसके दोनों मम्मे के बीच में मैंने लंड रख दिया और दोनों मम्मे को कसके पकड़ कर लंड से चोदने लगा। काजल की आँखे सेक्स के नशे से भारी हो गयी। मैं उसके उपर चढ़कर उसके दूध को चोद रहा था। उसे भी बड़ा मजा मिल रहा था। मैंने खूब कलाबाजी दिखाई और 15 मिनट तक काजल जैसी सेक्सी औरत के मम्मो को चोदता रहा। फिर उसके उपर बैठे ही लंड उसके मुंह में डाल दिया।

“चल साली चूस इसे!!” मैं बोला

काजल तो पहले से ठरकी हो चुकी थी। वो मेरे 11 इंची मोटे औजार को मुंह में लेकर चूसने लगी। हाथ से पकड़कर तेज तेज मुठ भी दे रही थी। मैं “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ…ऊँ…ऊँ….”करने लगा। मुझे भी काफी अच्छा लग रहा था। वो कामुक होकर सिर हिला हिलाकर चूस रही थी। इस तरह मैं अपने ऑफिस में ही अय्यासी कर रहा था।

“साली कुतिया!! तेरे मुंह को चोदू क्या???” मैंने कहा

वो सर हिला दी। अब मेरे अंदर का कामदेव जाग गया। मैंने काजल के सर को दोनों हाथ से कसके पकड़ा और उसके मुंह को अपने लंड से जल्दी जल्दी चोदने लगा। उसका तो दम ही निकला जा रहा था। दोस्तों मेरा लंड 2 इंच मोटा था इसलिए उसे भी काफी मजा आ रहा था। मैं करता चला गया। काजल के मुंह की लार और थूक अच्छे से मेरे लंड पर चुपड़ गया था। फिर भी मैं जल्दी जल्दी चोद रहा था। वो किसी देसी रंडी की तरह मुंह चुदवा रही थी। मेरे मोटे लंड से सफ़ेद माल टपक रहा था। मैंने वहसी बनकर काफी देर उसका मुंहचोदन कर डाला।

“चल रंडी!! नंगी हो जा” मैंने कामुकता में कहा

काजल सोफे से खड़ी हो गयी। उसके मुंह के चारो तरफ मेरे लंड का माल लगा हुआ था। वो एक एक करके अपनी काली रंग वाली साड़ी खोलने लगी। फिर पेटीकोट की डोरी खींच दी। उसे उतार दी। फिर अपनी काली रंग की चड्ढी उसने उतार दी और सोफे पर कुतिया बन गयी। मैं उसके पीछे हो लिया और बदन ताड़ने लगा। काजल जैसी मस्त औरत की गांड क्या खूब थी। उसकी गांड और चूतड़ 38 इंच के बड़े बड़े थे। मैं हाथ लगाकर उसके पिछवाड़े को सहलाने लगा।

उसके नितंभ (पुट्ठे) बड़े चिकने चिकने बेहद कामुक थे। मैं हाथ से छूकर सहलाकर मजा लेने लगा। काजल कामवासना में डूबकर “हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी… हा हा.. ओ हो हो….”करने लगी। मैं मुंह लगाकर उसके पुट्ठे को चाटने लगा। फिर दांत गड़ाकर काटने लगा। काजल सुसुआने लगी। फिर मैं उसकी बुर को पीछे से किसी चोदू कुत्ते की तरह चाटने लगा। काजल सिसकियाँ लेने लगी। उसकी बुर पीछे से कुछ जादा ही सेक्सी दिख रही थी। मैं जीभ लगा लगाकर चाटने लगा। अब मेरी क्लाइंट काजल और जादा गर्म होने लगी थी। मैं काफी देर तक चूत चुसाई करता रहा। फिर अपने 11 इंची लंड को मैंने उसके छेद में घुसा दिया। अब जल्दी जल्दी मैं काजल को चोदने लगा।

““……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी—चोदिये आशीष जी!! और जोर से पेलिए ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…” काजल देसी छिनाल की तरह चिल्ला रही थी

ये सुनकर मैं और जोश में आ गया और तेज तेज उसकी चूत का चुकन्दर करने लगा। काजल सोफे पर झुककर कुतिया बनी हुई थी। उसकी कमर पकड़कर मैं उसका गेम बजा रहा था। उसकी भरी हुई चूत से चट चट की आवाज निकल रही थी जैसे किसी को चांटे पड़ रहे हो। मैं बड़ी रफ्तार में उसको पेल रहा था। मुझे लंड में बड़ा मीठा मीठा अहसास आ रहा था। काजल कुतिया बनकर अच्छे से चुदवा रही थी। असंख्य बार मेरा मोटा पट्ठा लंड उसकी चूत में घुसा और निकला। मैं नॉन स्टॉप धक्के दे रहा था। इसी बीच काजल झड़ गयी। उसका पूरा बदन लहराने और कांपने लगा। मुझे ये सब देखकर और मजा आया। फिर जोर जोर के धक्के मारते हुए मैं भी झड़ गया। काजल हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ—करने लगी

“आशीष जी!! आप मस्त ठुकाई करते है” वो कहने लगी

उसने अपनी चड्डी उठाई और चूत को साफ़ करने लगी। मैंने उसकी चूत को उंगली से खोलकर देखा। उसकी बुर खूब चुदी हुई थी तबियत से। उसकी चुद्दी का छेद काफी बड़ा था और सुरंग अंदर तक दिख रही थी। साली रंडी लगता है बाहर के मर्दों से खूब चुद्वाती है और अपने सारे काम बिना पैसा दिए करवाती है। दोस्तों फिर मैंने उसकी गांड चोद डाली। मैंने काजल की जन्म कुण्डली अच्छे से बना दी और उसके घर में जो समस्याए चल रही थी उसको दूर करने का उपाय भी उसे बता दिया। अब अक्सर वो मुझसे मिलने आती है और ऑफिस में ही चुदवा लेती है। आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पढ़ते रहना। आप स्टोरी को शेयर भी करना।

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.


Online porn video at mobile phone


Hindi desi sexy story in ghar ka mal,resto ki chudai,sister&brotherसगे aunty kaise sex ke liye patayeपेलाई बुर कीकुवारीwww antarvasnasexstories com gandu gay doctor ki gand tamannaमेरे लन्ड की सील मम्मी तोडी तेल लगा के मालीशsagrat mom sexkhaniDesi sexy story sexy narsh ko choda hospital me sexy story khaniya marathiसामूहिक चुदाई दीदी की कोठे परकोठे पर चदाई कि सेक़सी कहानियाँचूत मे लडँ जेठ कXXX चौड़ी गांड़ घोड़ी बनाकर मारी की कहानीantervasn khet me.comमेरी पत्नी ने चुदाई से क़र्ज़ चुकायासाडी उठा बुर पेलामा को पिताजी चोदा x हिन्दी काहानीतांत्रिक के साथ मेरी सामुहिक चुदाई कहानीट्रैन में मुझे पटक कर छोड़ा और गांड भी मारीbehosh karke chudae ki hindechhat par Sahi bahen ko chodaXxxचुत का फोटोलण्ड को चोदके मुझे चोदोसासु माँ ने मेरा गैंगबैंग करवाया सेक्स स्टोरीहोस्टल कि लडकि होस्टल में पेलवाइपराया सेक्स हिंदी कहानियांजबरदस्ती चुदाई की कहानियांMom ki dosti kiraidar larkese se hui Hindi sex story. Comमेरी छुड्वने की आग कहानीw x बहन की चुत चाटी बीबी के सामने कहानीmaasexstoreyhendeholi me pela peli ki kahaniबहन को चोदना चाहते हूंकिरन की बुर कहनियhttps://allsvch.ru/justporno/bhai-behan-ki-chudai-hot-bro-sis-sex-story-in-hindi-bahan-bhai-sex/फेमेली सेकसी कहानीय़ा सगेबूर खो जै लणड चूत कहानीsexi kahanidost nay sister k sath sexmazi bayako sex stori marathimast kahani godam me seth ne chodaचुदक्कड़ नंदोई बुरचोदporn hndi Bhia bhna sex papa vidoHindi.mera.betaka.chotisi.sex.storyxxxनोकरीLadka ko kaise cement chadhe Jata hi xn xxx videoChachi ka khub dhudh Piya hotal me in hindi mehindisexstoriessexbab.comwww.मैंने अपने देवर को पटा कर चूत चुदवाई.comबहन की चुदाई कहानीgermard mehindi sex story mamiसगी माँ मैसी की चुकाई की कहानीshaheen ki gaand me pelaगोरी।सेकसी।मोटा।बिडीओठंड में बहन को अपने जिस्म की गर्मी दी हिन्दी सेक्स स्टोरीxxx ma ki chudai maxi me ki daaru maa daaru pe hui thi hindi storeysLatest hot Desi sautali maa Bata xxx videoAanty ko gadi par ditake le gaya porn Hindi kahaniबगल की दीदी को पेलामाँ ते अपने सहली चुत दीलाई बेटे कोहिंदी.sudhya.ma.bur.chodai.Gurumastram Bhai bhanSuhagrat story nokrani se holi khalima ki chudai mc k dinomay m k hindi sex storyपिताजी दादी कौ चौद रहे थैPariwarik majburi aur chudai ki kahaniwww.kamsin.kaliyo.ki.beraham.chudai.hindi.sex.kahanidudu pina hai chudai sex story englisमाँ ने होटल में सिखायापति के सोजाने के वाद चुदवायाbari didi ne apne bhanje se chudwai xxx porn vdoChacha Ne Meri seal todi Hindi non veg kahaniHalala,ki,saxi,story